Business

आयुष मंत्रालय की सलाह - रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए करें इस काढ़े ‘AYUSH KWATH’ का सेवन ।

 आयुष मंत्रालय की सलाह - रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए करें इस काढ़े ‘AYUSH KWATH’ का सेवन ।

  कोविड -19 से बचाव के लिए आयुष मंत्रालय की सलाह। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए पियें यह काढ़ा। कोरोना के कहर के चलते लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय ने दिशा-निर्देश जारी करके लोगों को आयुष काढ़ा पीने की सलाह दी है।
‘AYUSH KWATH

 आयुष मंत्रालय ने कहा है कि इलाज से बेहतर रोकथाम है। क्योंकि अभी तक COVID-19 से छुटकारा पाने के लिए कोई दवा या वैक्सीन तैयार नहीं हो पायी है इस लिये अच्छा होगा कि ऐसे एहतियाती कदम उठाए जाएं, जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं।आयुष मंत्रालय ने दिन में एक या दो बार हर्बल चाय पीने या तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, सूखी अदरक (सोंठ) और किशमिश का काढ़ा पीने की सलाह दी है। इसके अलावा, सुबह और शाम को दो बार नाक के दोनों नथुनों में तिल या नारियल का तेल या घी लगाने जैसे कुछ आसान आयुर्वेदिक उपाय भी सुझाए हैं।

  आयुष मंत्रालय का कहना है कि हर्बल काढ़ा लेने से COVID-19 के खिलाफ प्रतिरक्षा प्रणाली  को बेहतर बनाने में मदद मिलती है। हर्बल काढ़ा में चार औषधीय जड़ी-बूटियों को शामिल  किया गया है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार करने के लिए प्रसिद्ध हैं। आयुष काढ़ा आप  अपने घर में ही बना सकते हैं जानें रेसिपी-

आयुष काड़ा रेसिपी:

तुलसी - 4 पत्ते

दालचीनी छाल - 2 टुकड़े

सोंठ - 2 टुकड़े

काली मिर्च-1

मुनक्का-4

हर्बल टी या काढ़ा बनाने के लिए तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, अदरक और मुनक्का को एक साथ पानी में उबाल लें और छानकर इस पानी का इस्तेमाल करें। आप दिन में 1 से 2 बार  इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आपको इस काढ़े को पीने में परेशानी आए तो टेस्ट के लिए आप इसमें गुड़ या नींबू का रस भी मिला सकते हैं।आयुष मंत्रालय ने सलाह दी है कि सूखी खांसी या गले में सूजन के लिए दिन में एक बार पुदीने  की ताजा पत्ती या अजवाइन के साथ भांप ले सकते हैं। खांसी या गले में खराश के लिए दिन में  दो-तीन बार प्राकृतिक शक्कर या शहद के साथ लौंग का पाउडर लेने की सलाह  भी दी गई है। अतः आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा बताये गए  उपाय ज़रूर आज़माएँ। 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ